महराजगंज: इस महामारी में बेजुबान जानवरों को भी खिलाया आहार

रिपोर्ट- कार्तिकेय पांडेय

महराजगंज: इस महामारी के बीच सरकार और समाजसेवी संस्थाएं जरूरतमंदों को आवश्यक खाद्य वस्तुएं और खाना बांट रही हैं। ऐसे में पनियरा जंगल में बेजुबान बन्दरों के लिए रामबेलास गुप्ता मसीहा बनकर सामने आए। वह पिछले 6 सालों से वन प्रभाग गोरखपुर के बांकी रेंज पनियरा के जंगलों में अपनी आय से प्रतिदिन एक बोरा ब्रेड लेकर बेजुबान पशुओं को खिलाते हैं।
जैसे ही वह जंगल के पास पहुंचते हैं उनकी एक आवाज सुनकर जंगल के सभी बन्दरों का झुंड खाने को टूट पड़ता है। रामबेलास गुप्ता ने बताया कि जंगल में फलदार वृक्ष गायब होते जा रहे हैं। ऐसे में जंगल के बन्दर सुबह से शाम तक सड़कों की पटरीयों पर टक-टकी लगाएं बैठे रहते हैं। जैसे ही उन्हें खाने की कोई सामग्री मिलती हैं सब टूट पड़ते है। लॉकडाउन के कारण लोगों का आवागमन बन्द हो गया है। ऐसे में बेजुबान बन्दर भी भूख से तड़प रहे हैं। मनुष्यों के साथ-साथ बेजुबान जानवर और पशु-पक्षियों के लिए भी सरकार और समाजसेवी संस्थाओं को आगे आना चाहिए। जिससे इन बेजुबान जानवरों को आहार मिल सकें।

Comments