कुशीनगर: वर्षों से बन्द पड़ी चीनी मील को चलवाने के लिए पूर्व विधायक ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को भेजा ई-मेल, की अपील


रिपोर्ट- संदीप सिंह, कुशीनगर

लक्ष्मीगंज: वर्षों बन्द पड़ी चीनी मील को चलवाने के लिये भारतीय जनता पार्टी के पूर्व सदस्य राष्ट्रीय परिषद एवं पूर्व विधायक श्री नारायण उर्फ (भुलई भाई) ने देश के यशस्वी और तेजस्वी प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ई-मेल के माध्यम से अवगत कराया है और कहा कि अपने जीवन के आखिरी पड़ाव में हम अपने क्षेत्र के किसानों का दुर्दशा नही देख सकते है। यदि हमारे जीते जी लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मील चालू हो गया तो हमारी आत्मा को जरूर सकून मिलेगा कि हमारे क्षेत्र के किसानों के अच्छे दिन आ गये। यदि आप दोनों लोगों के द्वारा लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मील को चलवाने के लिये तत्काल घोषणा कर दिया जाता है और मील पेराई सत्र 2021-22 में गन्ना पेराई शुरू कर दिया जात  है तो आने वाले विधानसभा चुनाव 2022 तक बीजेपी की नीव इतनी मजबूत हो जाती की बीजेपी जनपद कुशीनगर से सभी सीटों पर इसी पार्टी का परचम लहराता नजर आएगा जैसा अब है। आपको बता दें कि लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मील को चलवाने के लिये लक्ष्मीगंज के साथ साथ प्रदेश के विभिन्न शहरों से जुड़े सम्मानित हजारों की तादात में किसानों/जनता व भारतीय किसान यूनियन (भानु) के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह और कार्यकर्ताओं द्वारा मार्च 2017 से ज्ञापन और धरना प्रदर्शन के माध्यम से लगातार अवगत कराया जा रहा है। चूकि बन्द चीनी मील के आस-पास क्षेत्रों में गरीबी, भूखमरी, बेरोजगारी आर्थिक तंगी की समस्या बढती ही जा रही है जिसके क्रम में बन्द चीनी मील चलवाने हेतु जागरूकता जिला स्तर, प्रदेश स्तर में आग की तरह फैली जा रही है।चुकी वर्तमान समय में शासन प्रशासन की मंशा भी गन्ना उत्पादन का लक्ष्य बढ़ाकर देश और प्रदेश का अपना विशेष स्थान पाना है जिसके अन्तर्गत जिला कुशीनगर से सम्बन्धित लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मील की अहम भूमिका हो सके, बेरोजगारी दूर हो सके, गरीबी दूर हो सके, अशिक्षा दूर होने के साथ साथ इस क्षेत्र का विकास भी हो सके इसलिये बन्द चीनी मील को चलवाना अत्यन्त आवश्यक है। लक्ष्मीगंज परिक्षेत्र गन्ना बाहुल्य क्षेत्र है और यहाँ पर प्रति वर्ष 60 से 70 लाख कुन्तल गन्ने का उत्पादन होता है। यहाँ पर किसान अपने गन्ने को चीनी मील गेट तक पहुंचा देता था यही  कारण है कि इस मील का कोई सेंटर नही होता था| इस समय किसान अपने गन्ने को लेकर काफी परेशान और उदासीन नजर आ रहा है जिसका मुख्य कारण है लक्ष्मीगंज बन्द चीनी का न चलना| अन्त में पूर्व विधायक श्री नारायण उर्फ (भुलई भाई) ने पत्रक के माध्यम से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को बताया है कि हजारों, लाखों किसानों/जनता व यूनियन कार्यकर्ताओं के तरफ से विशेष अनुरोध है कि आप दोनों लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मील को तत्काल प्रभाव से चलवाने के लिये तुरन्त ही घोषणा करें जो किसान हित में मील का पत्थर साबित होगा

Comments