महराजगंज: चोरी की अवैध लकड़ी चिरवाने के लिए वनदरोगा ने दिखाई दबंगई

महराजगंज: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में एक आरा मशीन पर वनदरोगा द्वारा लकड़ी चिराने की सूचना बीते शाम को मिली। क्षेत्र का एक व्यक्ति जलौनी के लिए लकड़ी चिरा रहा था तभी वहां पर वनदरोगा अनिल सिंह अपनी सागौन की लकड़ी लेकर चिराने के लिए पहुंचे और आरा मशीन मालिक से बोले सबका काम छोड़ दो पहले हमारी लकड़ी का चिरान करो।
वनदरोगा वहां मौजूद जलौनी लकड़ी देख कर पूछा ये किसकी लकड़ी है। वहा पर मौजूद ग्राम सभा सौरहा निवासी राजमणि ने कहा हमारी है। वन दरोगा ने राजमणि को भला बुरा कहते हुए पांच सौ रुपये की मांग की जिसपर राजमणि द्वारा देने से इनकार करने पर दरोगा ने राजमणि से बदसलूकी किया। युवक द्वारा यह सारी बात स्थानीय जनप्रतिनिधि व भाजपा नेता योगेंद्र यादव को बताया गया। मौके पर पहुंचे योगेंद्र यादव ने वन दरोगा से पूछताछ करना चाहा तभी वहां से वन दरोगा फरार हो गया।
जब यह खबर वायरल हुआ और इसकी सूचना थानाध्यक्ष बृजमनगंज को मिली तो मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने आरा मशीन मालिक से पूछताछ किया जिसमें वनदारोगा की लकड़ी होने की पुष्टि की गई। डीएफओ अविनाश कुमार ने बताया कि डीएसओ एएन मौर्या व वन रेंजर डीएन पाण्डेय को जांच कर स्पष्टीकरण मांगा गया है उसके बाद कार्रवाई की जाएगी। डीएफओ ने बताया कि वन दारोगा को यहाँ से गोरखपुर के तिकोनिया के लिए भेज दिया गया है। जाँच कमेटी बैठाई गई है मामला सत्य होने पर दरोगा के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जायेगी।





Comments