गोरखपुर: रामनगर कड़जहाँ पुलिस चौकी पर अभी तक नही कोई आया मामला

गोरखपुर: रामनगर कड़जहां चौकी का उद्घाटन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉक्टर सुनील कुमार गुप्ता के हाथों 29 मई 2020 को हुआ था। इस चौकी के उद्घाटन के लगभग 50 दिन पूरे होने वाले हैं। इस नवागत चौकी पर नौसड चौकी इंचार्ज रह चुके चंदन कुमार सिंह को नया चौकी इंचार्ज बनाया गया। रामनगर कड़जहाँ में पुलिस चौकी ना बनने से पूर्व आए दिन सड़को पर जाम लगना, खड़े ट्रकों के डीजल, बैटरी और ट्रकों के ऊपर लगे प्लास्टिक व त्रिपाल काटकर सामान का चोरी हो जाना इस क्षेत्र में आम बात हो गई थी और इसके साथ ही समय-समय पर व्यापारियों के दुकानों के ताले टूटना आदि।
लेकिन रामनगर कड़जहां में एक नई चौकी स्थापित हो जाने से क्षेत्र में लगातार हो रहे ट्रकों के डीजल चोरी, बैटरी चोरी, जाम की समस्या व व्यापारियों के टूट रहे दुकानों के ताले जैसी आदि समस्याओं पर अंकुश लग गया। रामनगर कडजहां चौकी बनने के बाद क्षेत्र से घटते अपराधों का आभास इस बात से भी लगाया जा सकता है कि चौकी बनने के बाद थाना खोराबार पर एक भी मुकदमा व एनसीआर तक पंजीकृत नहीं हुआ है। जिसके चलते क्षेत्र की जनता पुलिस की भूरी भूरी प्रशंसा कर रही है व आभार प्रकट कर रही है। अब चौकी क्षेत्र के लोग खुद को आत्मनिर्भर और सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। इसके लिए क्षेत्र की जनता वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ सुनील कुमार गुप्ता को रामनगर कड़जहाँ में नए पुलिस चौकी को खोलने व स्थापित करने के लिए धन्यवाद व आभार प्रकट कर रही है। थाना क्षेत्र में पड़ने वाले संपूर्ण नेशनल हाईवे को भी रामनगर कड़जहाँ पुलिस चौकी को सपुर्द कर दिया गया है जिससे आए दिन एक्सीडेंटल जैसी घटनाओं का होना भी आम बात है। चौकी पर मात्र चौकी इंचार्ज चंदन कुमार सिंह व एक सिपाही की मौजूदगी में चौकी परिक्षेत्र में इतनी बड़ी जिम्मेदारियों व कर्तव्यों को निभाना साथ ही चौकी की गरिमा को बनाए रखना अपने आप में मिसाल साबित करता है। रामनगर कड़जहां चौकी बन जाने के बाद थाना खोराबार से फोर लेन पर किसी भी पुलिस की कोई भी ड्यूटी नहीं लगाई जाती है। जबकि चौकी पर एक उपनिरीक्षक और एक ही कांस्टेबल तैनात हैं। प्रशासन द्वारा चौकी के आसपास के क्षेत्रों को देखते हुए रामनगर कड़जहां पुलिस चौकी को और मजबूत करने की आवश्यकता है। जिसके साथ ही पुलिस अपने कर्तव्यों को और बखूबी के साथ निभा सके। साथ ही  इस चौकी क्षेत्र से अपराध, चोरी और जाम आदि जैसी समस्याएं पर काफी हद तक अंकुश लगाया जा सके और क्षेत्र के लोग भी अपने आप को सुरक्षित व आत्मनिर्भर महसूस कर सकें।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments