कानपुर: हिस्‍ट्रीशीटर विकास दुबे और पुलिस के बीच हुए मुठभेड़ में महराजगंज के शिवमूरत निषाद भी घायल

रिपोर्ट- कार्तिकेय पाण्डेय

कानपुर: मुठभेड़ के दौरान हिस्‍ट्रीशीटर विकास दुबे और उसके साथियों की गोली से घायल पुलिसकर्मियों में महराजगंज के शिवमूरत निषाद भी शामिल हैं। बदमाशों की गोली से उनके घायल होने की सूचना मिलते ही उनकी मां मायावती की तबीयत खराब हो गई है। पनियरा क्षेत्र के अड़बड़हवा टोला बरवास गांव के निवासी शिवमूरत के पिता का नाम भजुराम है। 
शिवमूरत परिवार में सबसे छोटे हैं। शुक्रवार की सुबह जैसे ही शिवमूरत के घायल होने की सूचना मिली, उनके पिता, भाई और गांव के कुछ अन्‍य लोग कानपुर के लिए निकल पड़े। शिवमूरत के घर पनियरा थाने की पुलिस भी पहुंच गई थी। कानपुर जाने के लिए शिवमूरत की मां मायावती भी निकली थीं लेकिन उनकी तबीयत खराब हो गई और लोगों ने उन्‍हें वापस घर पहुंचा दिया।


25 वर्षीय कांस्‍टेबल शिवमूरत निषाद पांच भाइयों में सबसे छोटे हैं। वह 2018 में पुलिस में भर्ती हुए। अभी उनकी शादी नहीं हुई है। 25 दिन पहले ही चार दिन की छुट‌्टी पर घर आए थे। घर की आर्थिक स्थित ठीक नहीं होने से भाई बाहर रहकर कमाते थे, लेकिन लॉकडाउन में सभी घर पर ही हैं।
सिपाही शिवमूरत के घायल होने की सूचना शुक्रवार को सुबह करीब आठ बजे भाई रामजतन को फोन से मिली। सूचना मिलते ही परिवार को बिना बताए ही वह बाइक लेकर गोरखपुर के लिए निकल पड़े। गोरखपुर से बस से कानपुर भाई को देखने चले गए। 


उसके कुछ समय बाद ही पनियरा पुलिस भी शिवमूरत के घर पहुंची और घायल होने की जानकारी दी। बेटे के घायल होने की खबर मिलते ही मां मायावती दहाड़ें मारकर रोने लगी। पिता बदहवास हो गए। धीरे-धीरे पूरा गांव शिवमूरत के घर उनका हाल जानने के लिए उमड़ पड़ा। मां मायावती बेटे को देखने जाने की जिद करने लगी। परिवार के लोग शिवमूरत को देखने जाने की तैयारी करने लगे। माता-पिता और सभी भाई भी देखने के लिए निकल पड़े, लेकिन खराब हालत के कारण मां को वापस घर भेज दिया गया।

Comments