Skip to main content

महराजगंज: गलत रिपोर्ट देने पर अल्ट्रासाउंड सेंटर को किया गया सील, महिला ने की थी डीएम से शिकायत

रिपोर्ट- कार्तिकेय पांडेय

महराजगंज: पनियरा क्षेत्र के एक अल्ट्रासाउंड सेंटर द्वारा गलत रिपोर्ट देने पर स्वास्थ विभाग की टीम ने अल्ट्रासाउंड सेंटर को सील कर दिया गया है। आरोप है कि सेंटर की ओर से एक गर्भवती महिला की पेट में पल रहे बच्चे को मृत बताया गया था। वहीं जब महिला ने दूसरे अल्ट्रासाउंड सेंटर पर इसकी जांच कराई, तो बच्चे को जीवित बताया गया।

पनियरा थाना क्षेत्र के स्थानीय कस्बा में संचालित एक निजी क्लीनिक पर शुक्रवार को स्वास्थ विभाग ने छापेमारी कर अल्ट्रासाउंड सेंटर को सील कर दिया है। आरोप है कि एक गर्भवती महिला ने संबंधित सेंटर से अल्ट्रासाउंड कराया था, जहां पर उसके पेट में पल रहे बच्चे को मृत बताया गया. महिला 24 जुलाई को जांच कराने गई थी। इसके बाद परिजनों ने दूसरे अल्ट्रासाउंड सेंटर में जांच कराई, तो वहां पर रिपोर्ट में बच्चे को जीवित बताया गया।

इस पूरे मामले को लेकर सेंटर के संचालक और महिला के परिजनों के बीच जांच रिपोर्ट के बारे में कहासुनी भी हो गई। इसके बाद पीड़िता ने डीएम से शिकायत कर सेंटर के संचालक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद डीएम डॉ. उज्ज्वल कुमार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए डिप्टी सीएमओ डाॅ. आईए अंसारी को जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया।

डिप्टी सीएमओ ने मामले की जांच प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पनियरा के प्रभारी चिकित्सक को सौंप दी। फिर शुक्रवार को पनियरा स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सक डाॅ. वीर विक्रम सिंह ने स्वास्थ्य कर्मियों के साथ सेंटर की जांच करते हुए इसे सील कर दिया है। उन्होंने बताया कि शिकायत के आधार पर जांच करते हुए यह कार्रवाई की गई है।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments

Popular posts from this blog

महराजगंज: मछली मारने को लेकर दो पक्षों में हुई मारपीट, एक की मौत, मची चीख-पुकार

रिपोर्ट- अमृत जायसवाल महराजगंज : घुघली थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्रामसभा पौहरीया में गत मंगलवार की रात दो पक्षों में मछली मारने के दौरान विवाद हो गया। जिसके बाद दोनों पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई। मारपीट में एक व्यक्ति की जिला चिकित्सालय ले जाते समय मृत्यु हो गई। मृतक के शव को मोर्चरी में रखवाया गया है। मृतक का नाम सदानंद गौड़ है। हम बता दें आपको कि मृतक के दो बच्चे हैं। एक लड़की जो पांच वर्ष की है और एक लड़का जिसकी आयु सिर्फ एक वर्ष है। मृतक की पत्नी सावित्री देवी के तहरीर पर मुकदमा अपराध संख्या 176/20 धारा 302, 504, 506, आईपीसी बनाम संदीप, संतोष, गोलू पुत्रगण शंकर गोंड और रविन्द्र पुत्र बन्हू गोंड पंजीकृत किया गया है। जिसमें से 3 अभियुक्त गिरफ्तार है। एक व्यक्ति फरार है जिसकी तलाश जारी है। [ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए  यहाँ क्लिक करें , आप हमें  फेसबुक ,  ट्विटर ,  यूट्यूब  और  इंस्टाग्राम  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ] Hindi Express News

महराजगंज: एंटी रोमियो टीम द्वारा की गई कार्यवाही, मनचलों को चेतावनी देकर छोड़ा

महराजगंज : एंटी रोमियो टीम प्रभारी रंजना ओझा, आरक्षी राजन भानु प्रताप, महिला आरक्षी लक्ष्मी मिश्रा व महिला आरक्षी कुमारी साधना द्वारा सघन चेकिंग अभियान चलाया गया। जिसके अंतर्गत जिला पंचायत मार्केट, सक्सेना नगर, PWD गली, दुर्गा मंन्दिर, नगर पालिका गली, CMO गली व कस्बा जैसी आदि भीड़-भाड़ वाले जगहों पर 61 लोगों को चेक किया गया तथा 03 मनचले व शोहदे किस्म के व्यक्तियों को चेतावनी देकर छोड़ा गया। साथ ही यह हिदायत भी दी गई की बिना किसी कारण के बाजारों में चौराहों के आसपास दुबारा घूमते हुए पाए जाने पर कड़ी वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। [ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए  यहाँ क्लिक करें , आप हमें  फेसबुक ,  ट्विटर ,  यूट्यूब  और  इंस्टाग्राम  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ] Hindi Express News

महराजगंज: एक बार फिर कलंकित हुआ विद्या का पवित्र मंदिर, सह प्रबंधक का अश्लील वीडियो वायरल

महराजगंज : विद्यालय पवित्र मंदिर के समान होता है उसमें पढ़ाने वाले शिक्षक समाज के दर्पण होते है। व्यवस्था देखने वाले समाज को आईना दिखाने का कार्य करते हैं। समाज के लिए अनुकरणीय होते है। ऐसे में व्यवस्थापक ही मानवता को तार-तार करने में लग जाएंगे तो फिर समाज को कहां तक सुधार पाएंगे। ऐसा ही मामला कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम सभा धर्मपुर के एक विद्यालय के सह प्रबंधक का प्रकाश में आया है। उनका एक अज्ञात युवती के साथ वायरल वीडियो क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। जिसमें वह युवती को इंगित कर अश्लील हरकत करते हुए साफ तौर पर देखे जा सकते हैं। यही नहीं वीडियो कॉल के जरिए लड़की से बात कर अर्धनग्न होकर अश्लील हरकतें भी कर रहे हैं। उनका यह कृत्य समाज के लिए निंदनीय है। उनके स्कूल के जरिए छात्राओं को किस तरह की शिक्षा मिल पाएगी यह तो सोचनीय प्रश्न है। समझ में नहीं आता बड़े-बड़े दावे करने वाले और महिला सशक्तिकरण की बात करने वाले समाज के दर्पण पुनीत कार्य करने वाले इस तरह के कृत्यों में किस तरह संलिप्त हो जाते है? फिलहाल यह तो जांच का विषय है जो क्षेत्र में चर्चा का व