गोरखपुर: मोतीराम अड्डा व गोबडौर चौकी के नव निर्मित भवन का वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने किया उद्धाटन

गोरखपुर: डीआईजी राजेश मोडक डी. राव के मार्गदर्शन में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. सुनील गुप्ता ने अपराध एवं अपराधियों पर अंकुश लगाने के लिए लगातार नए थाने व चौकियों को स्थापित कर अपराधियों की कमर तोड़ कर अपराध मुक्त जनपद को बनाने में लगे हुए हैं। जिससे जनपदवासी भयमुक्त रह कर अपने जीवन यापन कर सके। उसी क्रम में झंगहा थाना क्षेत्र के बीहड़ों का इलाका कहे जाने वाला कछार क्षेत्र के गोबडौर में नई चौकी स्थापित कर अपराधियों पर अंकुश लगा दिया। 

इसी तरह झंगहा थाना क्षेत्र में ही मोतीराम अड्डा चौकी स्थापित कर जहां असामाजिक तत्वों का जमावड़ा दिखाई दिया करता था तथा रोड दुर्घटनाएं अधिकतर हुआ करती थी इस चौकी के बन जाने से अपराध व मार्ग दुर्घटना पर पूर्ण रूप से लगाम लग गया है। गोबडौर व मोतीराम अड्डा चौकी बन जाने से इन क्षेत्रों की आम जनता खुशी से झूम रही है कि ऐसा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नहीं देखा जो आम जनता की समस्या व दुख दर्द को देखते हुए दोनों चौकियों का स्थापना कर अपराध व अपराधियों पर पूर्ण रूप से लगाम लगा दिया है।

इन दोनों चौकियों की स्थापना हो जाने से अपराध लगभग इन क्षेत्रों से समाप्त हो गया है। क्योंकि इन दोनों चौकियों के चौकी प्रभारी अपने-अपने क्षेत्रों में मुस्तैदी के साथ अपनी-अपनी ड्यूटी अपने सहयोगियों के साथ कर रहे हैं। गोबडौर चौकी छः से आठ किलोमीटर की परिधि में बड़े-बड़े ग्यारह गांव को समाहित किया गया है। चौकी प्रभारी, उप निरीक्षक दिनेश कुमार अपने सहयोगियों के साथ अपने छेत्र को अपराध मुक्त रखे हुये है। मोतीराम अड्डा चौकी चार किलोमीटर के परिध में बड़े बड़े सात ग्राम सभाओं को समाहित किया गया है।

जिसके चौकी प्रभारी, उप निरीक्षक सूरज सिंह अपने सहयोगियों के साथ अपने छेत्र को अपराध मुक्त रखे हुये है। इन दोनों चौकियों के नव निर्मित भवन का उद्घाटन करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. सुनील गुप्ता ने कहा कि धीरे-धीरे आबादी बढ़ रही है और नए-नए कस्बे बनते जा रहे है। जिसकी वजह से भीड़ भाड़ ज्यादा हो रही हैं। जिससे जाम की समस्या बनी रहती थी और असमाजिक तत्वों का जमावड़ा धीरे धीरे बढ़ता जा रहा था। आस पास के इलाके में दूर दूर पुलिस नही थी। लोकल लोगों की मांग पर व लोकल लोगो के सहयोग से झगहा थाना अंतर्गत दो चौकी बनाई गयीं है। जिसका जीता जागता उदाहरण दिखाई दे रहा है। इन क्षेत्रों में गश्त करने वाले सिपाही पहले किसी ढाबे या किसी के पास बैठते थे अब पुलिस को अपनी जगह बैठने को मिल गयी है। अब यह इलाका अपराध मुक्त हो जायेगा।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]


Comments