महराजगंज: ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी ने मचाई लूट, मृतक के नाम पर भर दिया मनरेगा मस्टरोल, गबन कर लिया दर्जनों हाज़िरी का पैसा

रिपोर्ट- शिवम मिश्रा

महराजगंज: जहां एक तरफ मनरेगा के जरिए सरकार गरीबों को रोजगार देने का कार्य कर रही है। वहीं दूसरी तरफ निचलौल विकासखंड क्षेत्र के ग्राम सभा रमपुरवा के ग्राम प्रधान, सेक्रेटरी व रोजगार सेवक अपनी मिलीभगत करके मनरेगा का सरकारी धन लूटने में लगे हुए हैं। 

हालांकि जिलाधिकारी डॉ. उज्जवल कुमार मनरेगा में व्याप्त भ्रष्टाचार पर पैनी नजर लगाए हुए हैं तथा समय-समय पर मातहतों के पेंच कसते नजर आ रहे हैं। वहीं मुख्य विकास अधिकारी पवन अग्रवाल भी मातहतों को सख्त हिदायतें दे रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद निचलौल विकासखंड से एक अजीबो-गरीब मामला उभर कर सामने आया है। ग्रामसभा रामपुरवा निवासी घनश्याम पुत्र सेठई ने मुख्य विकास अधिकारी को एक तहरीर देकर बताया है कि उनके पिता की मृत्यु दो वर्ष पूर्व ही हो चुकी थी।

लेकिन ग्राम प्रधान अंगद गौड़, सेक्रेटरी रंजय कुमार गौड़ व रोजगार सेवक मीना सिंह ने फर्जीवाड़ा करके उनके मृतक पिता के नाम का मनरेगा के तहत मस्ट्रोल भरकर लगभग चालीस बार हाजिरी लगा कर सरकारी धन का गबन किया है। हालांकि प्रशासनिक अमले ने इसे अभी तक नजर अंदाज किया है। अपने प्रार्थना पत्र के जरिए शिकायतकर्ता ने यथाशीघ्र दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की अपेक्षा किया है।

इस मामले में जब हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के संवाददाता शिवम मिश्रा ने सेक्रेटरी रंजय कुमार गौड़ से जानकारी मांगा तो साहब अभद्रता पर उतर आए और धमकी भरे शब्द बोलने लगे। अब सवाल यह उठता है कि इतना बड़ा घोटाला आखिर हुआ कैसे? संबंधित को इतना बड़ा कारनामा करने की छूट किसने दी? योगीराज का चौतरफा हनक दिख रहा है तो वहां क्यों नहीं? अब देखना यह है कि जनपद के तेजतर्रार जिला अधिकारी का कानूनी डंडा कितना शीघ्र वहां पर चलता है। या फिर.....


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]


Comments