वाराणसी: बीएचयू के छात्रों ने 5 सितम्बर को शाम 5 बजे देश में बढ़ती बेरोज़गारी व निजीकरण के विरोध में किया विरोध प्रदर्शन

वाराणसी: देश में बढ़ती बेरोज़गारी और निजीकरण के विरोध में दिनांक 5 सितम्बर को शाम 5 बजे हुए देशव्यापी विरोध प्रदर्शन के तहत क़ाशी हिन्दू विश्वविद्यालय के छात्रों ने भी सिंह द्वार पर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।

छात्रों ने देश में बढ़ती हुई बेरोज़गारी और ग़रीबी का ज़िम्मेदार केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियों को ठहराते हुए ताली व थाली बजाकर विरोध प्रर्दशन किया।

छात्रों ने कहा कि देश की जीडीपी अपने न्यूनतम स्तर पर है। लॉकडाउन के कारण करोड़ों लोगों की नौकरियाँ चली गईं हैं। बेरोज़गारी पिछले 45 सालों में सबसे अधिक है। जिसके लिए साफ तौर पर केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियां ज़िम्मेदार हैं।

छात्रों ने साथ ही कहा कि जब देश की करोड़ों गरीब जनता महामारी और बेरोज़गारी से परेशान है तो ऐसे वक्त में केंद्र सरकार लगातार देश के बड़े उद्योगपतियों को अपनी सावर्जनिक सम्पत्ति बेच रही है। छात्रों ने साथ ही SSC, रेलवे सहित अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लम्बे समय से लंबित रखे जाने के कारण लाखों छात्रों के साथ हो रहे अन्याय का भी विरोध किया।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]



Comments