कुशीनगर: भा.कि.यू. (अम्बावता) के कार्यकर्ताओं ने जिला गन्ना अधिकारी को सौपा ज्ञापन

रिपोर्ट- संदीप सिंह

कुशीनगर: भारतीय किसान यूनियन (अम्बावता) की  जनपदीय इकाई के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह अपने कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर एक ज्ञापन जिला गन्ना अधिकारी को सौपते हुए अवगत कराया है कि लक्ष्मीगंज गन्ना समिति सर्किल संख्या 8 खानूछपरा के किसानों का गन्ना विगत चार पेराई सत्रों में ढाडा चीनी मिल को आवंटित किया गया था।

जहां पर गन्ना सुचार रूप से चीनी मिल को पहुँच जाता था और ढाडा चीनी मिल द्वारा किसानों के गन्ने का भुगतान भी समय से हो जाता था। मगर पेराई सत्र 2019-20 में सर्किल संख्या 8 (आठ) खानूछपरा के किसानों का गन्ना पिपराईच चीनी मिल को आबंटित कर दिया गया था जिसके वजह से किसानो को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था। किसानों का आरोप है कि पिपराईच चीनी मिल के कांटा द्वारा गन्ने का उठान और मिल द्वारा गन्ने का भुगतान सही समय से नही होने के वजह से किसानों में असंतोष व डर ब्याप्त है की चीनी मिल पिपराईच सरकारी होने के वावजूद भी किसानों के गन्ने का भुगतान कही डूब न जाए। गन्ना समिति सर्किल संख्या 8 (आठ) खानूछपरा के किसानों का यह भी आरोप है कि पेराई सत्र 2019-20 में पिपराईच कांटा कर्मचारियों द्वारा 50 किलोग्राम गन्ने की कटौती भी की जाती थी। अन्त में यूनियन के जिलाध्यक्ष श्री सिंह ने ज्ञापन के माध्यम से जिला गन्ना अधिकारी से माँग करते हुए कहा है कि किसानों की समस्याओं को संज्ञान में लेते हुए लक्ष्मीगंज गन्ना समिति सर्किल संख्या 8 (आठ) खानूछपरा के किसानों का गन्ना ढाडा चीनी मिल को आबंटित किया जाय जो किसान हित में होगा। यदि ऐसा नही किया गया तो हमारा यूनियन किसानों को लेकर जिला गन्ना अधिकारी कार्यालय को घेरने के लिये बाध्य होंगे जिसकी पूरी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।



[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments