महराजगंज: मकान के लिए परेशान संतोष को मिला सहारा, अभिषेक पांडेय ने बनाया उनका आशियाना

👤 A Special Story By Arun Gautam

महराजगंज: समय बदला, परिस्थितियां बदली, लेकिन नहीं बदले तो कुछ लोगों के विचार। आज भी तमाम ऐसे दानी है जो दूसरे की मदद करने के लिए तत्पर है। ऐसे ही हैं अभिषेक पांडेय। जिन्होंने एक निरीह को आशियाना देने का पुनीत कार्य किया है।

मामला निचलौल विकासखंड क्षेत्र अंतर्गत बूढ़ाडीह गांव का है। जहाँ एक गरीब ब्राह्मण संतोष पुत्र राजेंद्र का परिवार रहता है। जिसके भवन की दीवार व छत पूर्णतया जर्जर है और बरसात में टपकता रहता है और देखने से रहने लायक है ही नहीं। संतोष अपने आशियाने को लेकर चिंतित था। शासन प्रशासन से आवास की गुहार लगा क्र थक चुका था। लेकिन उसे आशियाना नहीं मिल सका। आजीज आकर संतोष ने सोशल मीडिया का सहारा लिया फिर कोरोना काल में दानवीर बने सोनू सूद का फोन आया। मकान बनाने का वायदा भी हुआ पर उनके द्वारा भी हाथ खींच लिया गया। जिसके चलते संतोष उसी जर्जर मकान में रहने को विवश रहा। आखिरकार अचानक गोरखपुर के एक व्यापारी अभिषेक पांडेय का फोन आया।

उन्होंने वायदा ही नहीं किया बल्कि जिम्मेदारी मान कर एक निरीह का कल्याण करते हुए उसका आशियाना बनाने का संकल्प लिया और आकर निर्माण कार्य शुरू करा दिया। आज अपना मकान देख कर संतोष मिश्रा और परिवार खुश नजर आ रहा है। सवाल यह उठता है कि अभिषेक जैसे दानवीर हाथ ऐसे गरीबों पर बढ़ाते रहें तो निश्चित रूप में गरीबी दूर होती जाएगी लेकिन आखिरकार सरकारी की मशीनरी किस लिए है? अभिषेक पांडेय का यह कृत्य गांव ही नहीं बल्कि क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।

इस संबंध में "हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़" द्वारा पूछे जाने पर भवन स्वामी संतोष मिश्रा ने बताया कि अभिषेक पांडे उनके लिए भगवान के समान है। अब तक किसी ने भी उनकी नही सुनी थी। श्री पांडे से उनका पहले का कोई संबंध भी नहीं था। उनका यह आभार जीवन भर नहीं भूलूंगा।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments