महराजगंज: रक्षक ही बना भक्षक, शादी का झांसा देकर लूटा आबरू

👤रिपोर्ट- बी.के. द्विवेदी

महराजगंज: जब रक्षक ही भक्षक बन जाए तो सुरक्षा कहां तक की जा सकती है, ये सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

मामला कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत कलेक्टरेट पुलिस चौकी पर तैनात एक कांस्टेबल की है। नंदलाल यादव पुत्र अशोक यादव नामक सिपाही कोतवाली थाना के ही नगर की रहने वाली एक लड़की को बहला-फुसलाकर शादी का झांसा देता रहा और उसका आबरू लूटता रहा। यही नहीं शादी का दबाव बनाने पर सिपाही ने दुर्गा मंदिर में ले जाकर लड़की को सिंदूर दान भी किया। जब बात आई उसे अपने साथ रखने की तो कतराने लगा और लड़की से दूरियां बनाने लगा। भविष्य अंधकार में देख लड़की ने जब आवाज उठाई तो कुछ महिला-पुरुष सिपाही उसे संबंध ना होने का दबाव बनाने लगे। 


आखिरकार लड़की न्याय के लिए न्यायालय का दरवाजा खटखटाने के लिए विवश हो गई। यह दिगर बात है की पीड़िता को न्याय मिल जाए लेकिन समझ में यह नहीं आता की सुरक्षा की जिम्मेदारी थामने वाली पुलिस जो अब स्वयं इस तरह की वारदातों में संलिपत होती जाएगी तो फिर आखिर जनता किस तरह पुलिस पर विश्वास कर पाएगी। जो भी हो देखना अब यह है की पुलिस अपनी विवाहिता को अपने साथ ले जाता है या फिर लड़की का भविष्य अंधकार में आ जाता है। इस संबंध में पूछे जाने पर क्षेत्राधिकारी सदर ने बताया कि दोनों को कोतवाली बुलाकर मामले की तहकीकात की जा रही है। यदि एक साथ जाने के लिए रजामंदी हो जाती है तो ठीक अन्यथा विधिक कार्यवाही की जाएगी।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments

  1. रक्षक इंसान नही होता है!!!

    ReplyDelete

Post a Comment