लखनऊ: टोल प्लाजा पर एक जनवरी से फास्टैग होगा जरूरी, नकदी लेन-देन की सुविधा हो जायेगी बंद

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अब 01 जनवरी 2020 से सभी चार पहिया वाहनों के लिए फास्टैग को अनिवार्य कर दिया गया है। डिजिटलाइजेशन को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार सभी टोल प्लाजा पर कैश लेन-देन को पूरी तरह से खत्म कर रही है। इस बारे में एनएचएआई के परियोजना निदेशक नरसिंघ नारायण गिरि ने बताया कि केंद्र सरकार 31 दिसंबर तक 100 प्रतिशत करना चाहती है। यदि वाहन मालिक ने अपने वाहन पर फास्टैग नहीं लगाया होगा तो उन्हें हाईवे पर एक जनवरी से असुविधा हो सकती है।

गिरि ने बताया कि 15 नवंबर को केंद्र सरकार के सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी की थी। इसके बाद लखनऊ के इटौंजा और दखिना टोल प्लाजा पर एक जनवरी से सभी चार पहिया वाहनों पर फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया है। वर्तमान में इन दोनों टोल प्लाजा पर दो कैश लेन भी हैं। खबर यह भी मिल रही है अगर आपकी चार पहिया बाहन इंसोरेंस और पोलुशन कराने से पहले फास्टैग अनिवार्य होगा।

यहां से खरीद सकते हैं आप फास्टैग
भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अनुसार फास्टैग सभी टोल प्लाजा व ई-कॉमर्स वेबसाइट अमेजन, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील और पेटीएम पर उपलब्ध है। बैंक और पेट्रोल पंप से भी फास्टैग को खरीदा जा सकता है। बैंक से फास्टैग लेते समय इस बात का ध्यान रखें कि जिस बैंक में आपका खाता हो उसी से फास्टैग खरीदें।

फास्टैग के लिए ये दस्तावेज होंगे जरूरी
फास्टैग खरीदने के लिए आपको ड्राइविंग लाइसेंस की फोटो कॉपी और वाहन के रजिस्ट्रेशन की जरूरत होगी। वहीं आप फोटो आईडी के तौर पर आधार कार्ड और पासपोर्ट या पैन कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इतने रुपये में आपको मिलेगा फास्टैग
एनएचएआई के अनुसार आप फास्टैग को किसी भी बैंक से 200 रुपये में खरीद सकते हैं। फास्टैग को आप कम से कम 100 रुपये से रिचार्ज करवा सकते हैं। सरकार ने बैंक और पेमेंट वॉलेट से रिचार्ज पर अपनी तरफ से कुछ अतिरिक्त चार्ज लगाने की छूट दी हुई है।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments