महराजगंज: नगर पंचायत घुघली के आठ सभासदों ने चेयरमैन व अधिशासी अधिकारी पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप, बैठे भूख हड़ताल पर, जांच की मांग

महराजगंज: नगर पंचायत घुघली में भ्रष्टाचार को लेकर तीन मनोनीत सभासद व पांच सभासदों ने घुघली नगर के मिल गेट पर बैठ कर भूख हड़ताल शुरू कर दी है।

सभासदों ने नगर पंचायत अध्यक्ष और अधिशासी अभियंता पर आरोप लगाया है कि इन लोगों ने आपसी तालमेल करके नगर पंचायत में करोड़ों रूपए का घोटाला किया है।

सभासदों ने सात सूत्री बिंदुओं की निष्पक्ष जांच कराए जाने की मांग की है जो कि निम्न हैं:-

1- नगर पंचायत घुघली में पंडित दीनदयाल आदर्श नगर पंचायत योजना के अंतर्गत पुराना इंटरलॉकिंग ईट लगाकर एवं नाली के ऊपर दो रददा जोड़कर कराए गए करोड़ों रुपए के घोटाले के संबंध में।

2- जर्जर विवाह भवन बनवा कर एक करोड़ 40 लाख रुपए का लूट करने के संबंध में।

3- तीन लाख रुपए का आरो प्लांट लगाकर 13 लाख भुगतान कराने के संबंध में।

4- विगत 5 वर्षों से एक ही नगर पंचायत में डॉक्टर लव कुमार मिश्र (अधिशासी अधिकारी) एक ही पद पर कार्यरत हैं आखिर इनका स्थानांतरण जिले के बाहर क्यों नहीं हो रहा है जबकि शासनादेश है कि 3 वर्ष से अधिक 1 जिले में नहीं रह सकते हैं।

5- दवा के छिड़काव के नाम पर कराए जा रहे फर्जी भुगतान के संबंध में।

6- नगर पंचायत घुघली को अधिशासी अधिकारी के द्वारा फर्जी ओ.डी.एफ. घोषित कराने के संबंध में।

7- विगत 1 वर्षों से नगर पंचायत घुघली में जितनी भी कार का एम.बी. कराया गया है उसका पुणे हम लोगों के समझ एम.बी कराने के संबंध में।

सभासदों द्वारा गत 21 नवम्बर को एक दिन का सांकेतिक धरना दिया गया था। जिसमें जांच की मांग की गई थी और साथ ही सभासदों ने कहा था कि अगर जांच नहीं होती है तो 13 दिसम्बर को भूख हड़ताल पर बैठेंगे। इस बीच कोई भी जांच शासन द्वारा नहीं कराई गई। तो मजबूरन आज इस ठंड भरी मौसम में सड़क किनारे भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं। सभासदों का कहना है कि यहां हर कार्य के लिए सुविधा शुल्क लिया जाता है। नगर पंचायत कर्मियों द्वारा सभासदों को न तो मानकों की जानकारी दी जाती है और न तो सभासदों की कोई राय ली जाती है। वही सभासदों के साथ अमानवीय व्यवहार भी किया जाता है। सभासदों ने कहा कि यदि हमारे ऊपर नाजायज दबाव दिया गया तो हम सभी सभासद नगर विकास मंत्री को अपना सामूहिक त्यागपत्र सौंप देंगे। सभासदों के समर्थन में कुछ भाजपा कार्यकर्ता और समाजसेवी भी धरने पर बैठ गए हैं।

धरने पर बैठे सभासदों में अनिल जयसवाल, राकेश जयसवाल, वीरेंद्र कुमार, शंभू कनौजिया, राकेश जयसवाल, मैनेजर जयसवाल, रमेश कुमार, आदित्य अग्रहरी, भाजपा कार्यकर्ता प्रमोद जयसवाल, मन्नू जायसवाल सहित आदि लोग मौजूद थे।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments