महराजगंज: टूयूबर फुडस प्राइवेट लिमिटेड अहमदाबाद एवं महराजगंज प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड के बीच नारंगी शकरकंद का हुआ अनुबंध

महराजगंज: कलेक्टर सभागार में जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी के समक्ष टूयूबर फुडस प्राइवेट लिमिटेड अहमदाबाद एवं महराजगंज प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड के मध्य वीए ४३ नारंगी शकरकंद का अनुबंध हुआ। इस अवसर पर संयुक्त निदेशक कृषि गोरखपुर, एचके उपाध्याय, उप कृषि निदेशक विनोद कुमार, जिला कृषि अधिकारी, कृषि विभाग एवं BMGF के तकनीकी सहायता टीम एवं DDM नाबार्ड भी उपस्थित रहे साथ ही एफ पीआओ के सदस्य उपस्थित रहे पूरे कार्यक्रम को विनोद तिवारी फेसीलिटेट कर आज नारंगी शकरकंद v-43 का प्रथम चरण में 400 टन के उत्पादन पर अनुबंध किया गया। सर्वहितकारी सेवाश्रम के अध्यक्ष एवं सहकर्मी लोगो की उपस्थिति रही।

उत्तर भारत में शकरकंद को विभन्न नामो से शकरकंद, गंजी आदि से जाना जाता है। भारत में शकरकंद की बहुत सारी प्रजातिया है। स नारंगी शकरकंद भी उसी मे से एक है । सामान्य शकरकंद के कंद का छीलका लाल रंग या सफेद रंग का होता है। लेकिन गुदा सफेद ही होता है स नरंगी शकरकंद एक खास तरह का शकरकंद हैए इसके गुदा का रंग नारंगी होता है स 100 ग्राम कन्द में 15 से 20 मीली ग्राम बीटा कैरोटीन पाया जाता हैए जो की खाने के बाद विटामिन ए मे परिवर्तित हो जाता है।
नारंगी रंग का शकरकंद कैसर एवं यकृत संबधित बीमारीयों को रोकने में मददगार होता है।, नारंगी शकरकंद मधुमेय के मरीज भी खा सकते है। ये आख की विमारी जैस रतौधी, आख से पानी आना, बीटस्पाट, मोतियाविन्द को रोकरने में मदद करता है। इस शकरकंद विभिन्न प्रकार के उत्पाद बनाये जाते है जैसे पकौड़ी, साग, चिप्स, अचार, मिठाइंया इत्यादि। इस नारंगी को वनग्राम दौलतपुर, चेतरा, कम्पार्ट 27, वीट नर्सरी, लक्ष्मीपुर ब्लाक तथा साथ ही साथ सिद्वार्थनगर में भी इसका उत्पादन प्रथम वर्ष में किया जा रहा है।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments