महराजगंज: उपेक्षा का शिकार, खंडहर में तब्दील पशु अस्पताल, मौन जिम्मेदार

👤बी. के. द्विवेदी

महराजगंज: जहां एक तरफ प्रदेश में सत्तासीन योगी सरकार में निर्माण कार्य जोरों पर हो रहा है। वहीं दूसरी तरफ जिम्मेदारों की उपेक्षा के कारण खुशहाल नगर स्थित राजकीय पशु अस्पताल अपनी दुर्दशा के लिए आंसू बहा रहा है।

घुघली विकासखंड क्षेत्र अंतर्गत खुशहाल नगर में करीब दो दशक पहले बना राजकीय पशु चिकित्सालय मरम्मत के अभाव में खंडहर बनता जा रहा है। छत से पपड़ी निकलकर आए दिन फर्श पर गिरता रहता है। दीवार भी कमजोर होता जा रहा है। उसमें दरारें दिख रही है । चारदीवारी ढह चुकी है, खिड़कियां व उस पर लगे शीशे टूट चुके हैं, दरवाजे सड़ रहे हैं, साफ-सफाई रंगाई-पुताई तो इस अस्पताल के लिए दिवास्वप्न है। खंडहर होने के नाते यहां अपने पशु लेकर आने में पशुपालकों को भय लगता है लेकिन मजबूरी है बस आना पड़ता है।

डॉक्टर एक, तैनाती तीन जगह
यही नहीं इस अस्पताल में तैनात डॉक्टर तीन जगह कार्यभार ग्रहण किए हुए हैं। जिसके चलते इस अस्पताल में वह हफ्ते में एक या दो दिन ही दे पाते हैं। वह भी दिन निश्चित नहीं रहता। जिसके चलते पशुपालकों को काफी परेशानी होती है।

विभाग व जनप्रतिनिधि मौन
सबसे अहम बात यह है कि इस खंडहर अस्पताल की मरम्मत या नव निर्माण पर सभी जिम्मेदार चुप्पी साधे हुए हैं। विभाग हो या क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि कोई भी इसकी दुर्दशा पर ध्यान नहीं दे रहा। जिसके चलते यह खंडहर बना हुआ है। जिससे क्षेत्रीय पशुपालकों में आक्रोश व्याप्त है।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments