वाराणसी: खड़ी एंबुलेंस में रंगरलियां मनाते हुए पकड़े गये तीन युवक, एक युवती भी पुलिस की हिरासत में



वाराणसी: कोरोना की भीषण महामारी में एंबुलेंस को लेकर हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है। कहीं पर एंबुलेंस है ही नही तो कहीं पर किराए को लेकर बवाल हो रहा है। कोरोना महामारी में लोगों की टूटती सांसो को अस्पताल पहुंचा कर बचाने वाली एंबुलेंस को जब कोई रंगरलिया मनाने का जरिया बना ले तो क्या कहा जाए।

ऐसा ही एक मामला वाराणसी मे देखने को मिला है। शुक्रवार को सूजाबाद में एक युवती के साथ तीन युवक एंबुलेंस में रंगरलिया मनाते हुए पकड़े गए। मिली जानकारी के मुताबिक एक युवक ने मण्डुवाडीह के एक निजी अस्पताल की एंबुलेंस को पन्द्रह हजार रुपये महिने किराए पर लेकर मरीजों को लाने और ले आने का काम शुरू किया। एंबुलेंस चलाने के लिए युवक ने लंका के नगवां निवासी युवक को रखा था। शुक्रवार को एंबुलेंस चालक का कबीरचौरा निवासी एक दोस्त अपने एक अन्य दोस्त व एक युवती के साथ एंबुलेंस में बैठ गया। सभी एंबुलेंस लेकर सूजाबाद-पड़ाव पहुंचे जहां पुलिस चौकी के ठीक सामने ही गाड़ी खड़ी कर महिला के साथ रंगरलिया मनाने लगे। एंबुलेंस को काफी देर खड़ी देखकर आस-पास से गुजर रहे कुछ लोगों को शक हुआ। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस  को दी। सूचना पाते ही पुलिस फौरन हरकत में आई और एंबुलेंस को खुलवाया तो अंदर का नजारा देख पैरो तले जमीन खिसक गई। एंबुलेंस के अंदर तीन युवक और एक युवती आपत्तिजनक हालत में मिले। पुलिस ने युवती समेत तीनों युवकों को हिरासत में ले लिया है। एंबुलेंस को भी पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments