महराजगंज: बच्चे की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसे अस्पताल में ही छोड़ कर चली गई निर्दयी माँ, मासूम ने तोड़ दिया दम

महराजगंज/नेपाल: कहते हैं कि माँ के ममता का कोई मोल नही होता और ये दुनिया की सबसे अनमोल चीजों में से एक है। इसके आगे हर चीज फीकी पड़ जाती है। माँ के लिए उसका बच्चा ही उसके कलेजे का टुकड़ा होता है। लेकिन अगर हम आपको बताये की एक माँ ने अपने बीमार बच्चे को अस्पताल में इसलिए छोड़ दिया क्योंकि बच्चा कोरोना संक्रमित था और माँ के चले जाने के बाद बच्चे की साँसे टूट गई तो आप यकीन नही कर पाएंगे।

जी हां, ये खबर है उत्तर प्रदेश के जनपद महराजगंज की। जहाँ पड़ोसी देश नेपाल के नवल परासी जिला स्थित एक गांव की महिला 12 मई को अपने चार साल के बच्चे को लेकर जिला अस्पताल पहुंची। बच्चे को तेज बुखार के साथ झटके आ रहे थे। इंसेफेलाइटिस का लक्षण देख डॉक्टरों ने संबंधित आईसीयू वार्ड में भर्ती कर बच्चे का इलाज शुरू कर दिया। जांच में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम की पुष्टि हुई। बीमारी के चलते मासूम बेहोश था। चार दिन इलाज के बाद भी बुखार कम नहीं हुआ तो 18 मई को उसकी कोरोना जांच हुई और रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिसके बाद मासूम की निर्दयी मां उसे अस्पताल में ही छोड़कर चली गई। जो चार दिन बाद भी वापस नहीं लौटी। मां के चले जाने के बाद इंसेफेलाइटिस वार्ड में भर्ती मासूम की देखभाल भगवान भरोसे हो गयी और फिर गुरुवार की रात उस चार साल के मासूम की सांसें थम गईं और उसने दम तोड़ दिया। बात यही खत्म नही होती क्योंकि उस मासूम का शव लेने भी कोई नहीं आया। समझ में नही आता की कोई माँ इतना क्रूर कैसे हो सकती है? जो अपने कलेजे के टुकड़े को अस्पताल में ही मरने के लिए छोड़ आई।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments

  1. पता कीजिए वह माँ थी जरूर कोई घटना हुई होगी उसके साथ ।
    वर्ना कोई माँ ऐसे अपनी औलाद को छोङकर नहीं भागेगी

    ReplyDelete

Post a Comment