महराजगंज: ...और आज भी विकास से कोसों दूर है ग्राम सभा कटहरा खास

महाराजगंज: एक तरफ 73वें संविधान संशोधन के तहत पंचायतों को और अधिक सशक्त बनाए जाने से गावों का चौतरफा विकास हो रहा है वहीं दूसरी तरफ सदर विकास खंड का ग्रामसभा कटहरा खास विकास के नाम पर आंसू बहा रहा है। बरसात के दिनों में जल निकासी के अभाव में जल जमा होने से लोगों के आवागमन में परेशानी हो रही है। सड़कों पर जल जमाव गांव की पहचान बन गई है। यही नहीं जंगल के किनारे बसे होने के कारण फसलें जंगली जानवरों की भेंट चढ़ जाती है। कभी-कभी तो इन जानवरों का मुकाबला रख वालों से भी होता है जिनके जान पर भी खतरा मंडराता रहता है और तो और इस गांव का एक पुरवा उसरहा तक जाने के लिए वन विभाग से एनओसी ना मिल पाने के कारण सड़क खड़ंजा या पीच नहीं बन पा रहा है। मार्ग कच्ची होने से बरसात में आवागमन पूर्णतया बाधित हो जा रहा है। चार पहिया वाहनों के पहिए से रास्ता कच्चा होने के नाते गड्ढा बन गया है। जिससे बाइक या अन्य  चार पहिया वाहनों का आना जाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। वही चुनाव नजदीक देख जनप्रतिनिधि विकास की गंगा बहाने का ढिढौरा पीटने में लगे हैं। वर्तमान की केंद्र व प्रदेश सरकार गांव के चौमुखी विकास की दावे कर रही हैं। लेकिन यहां ऐसा कुछ देखने को नहीं मिल रहा है। कारण चाहे जो भी हो लेकिन यहां जनप्रतिनिधि या सरकारी मिशनरी पूरी तरह सुस्त पड़ी है। ग्रामीण अपने गांव को भी अन्य गांवों की तरह विकास कराने के लिए तत्पर दिख रहे हैं अब देखना यह है कि उनका यह मंसूबा पूरा होता है या फिर दुर्दशा का दंश झेलते रहेंगे।



[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]

Comments