महराजगंज: तीस जनवरी को घुघली में होगा "गांधी यहां आए थे" नामक कार्यक्रम, बैठक में बनी सहमति

महराजगंज: 9 जनवरी 1915 को महात्मा गांधी अफ्रीका से लौटकर भारत आए थे। जिसके उपलक्ष्य में हर साल 9 जनवरी को भारतीय प्रवासी दिवस मनाया जाता है। इस दौरान राजीव नगर में एक बैठक आयोजित कर आगामी 30 जनवरी को गांधी जी की पुण्यतिथि पर कार्यक्रम करने के प्रस्ताव पर भी सर्व सहमति बनी। 30 जनवरी को घुघली में "गांधी यहां आए थे" के नाम से कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

इस बैठक में उनके विचारों को दोहराया गया कि "जो भी सीखें, मन लगा के सीखें फिर दिल निचोड़ कर अपने देश की सेवा करें," ये वही भाषण है जो गांधी जी ने इंग्लैंड जाने से पूर्व अपने विद्यालय द्वारा आयोजित विदाई समारोह में कहा था। जो गीता का सार भी है इतने ही शब्दों में गीता का ज्ञान योग, भक्ति योग और कर्म योग तीनों सम्मिलित हैं। 

बैठक में उपस्थित एसडीएम मदन मोहन वर्मा ने कहा कि गाँधी विचार के अनुसरण से ही राष्ट्र की सबसे बड़ी सेवा हो सकती है। भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए हमें गांधी का अनुसरण करना चाहिए। 

युवा हल्ला बोल के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष गोविन्द मिश्रा ने कहा कि गांधी सिर्फ व्यक्ति नहीं एक विचार हैं, जिसको हमें आगे ले जाना है। गांधी हमें द्वेष की जगह प्रेम धर्म, हिंसा की जगह आत्मबलिदान और पशुबल से टक्कर लेने के आत्मबल को आत्मसात करने की बात करते हैं जो हम युवाओं का भी सूत्र वाक्य होना चाहिए क्योंकि हम युवा ही देश के भविष्य हैं।

इस बैठक में एसडीएम मदन मोहन वर्मा, समाजसेवी केएम अग्रवाल, युवा हल्ला बोल के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष गोविन्द मिश्रा, प्रोफेसर डॉ० सत्यव्रत सिंह, प्रोफेसर जनार्दन धामिया, वरिष्ठ अधिवक्ता हमीदुल्लाह खान, युवा हल्ला बोल महराजगंज के जिलाध्यक्ष अशफाक खान, कार्यकारिणी सदस्य वरुण त्रिपाठी, सत्तन वर्मा व सुरेंद्र पटेल समेत दर्जनों लोग उपस्थित रहे।


[ हिंदी एक्सप्रेस न्यूज़ के एंड्राइड ऐप को डाऊनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, आप हमें फेसबुकट्विटरयूट्यूब और इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं। ]



ADVERTISEMENT

Comments